PM नरेंद्र मोदी ने किया भव्य राम जन्मभूमि मंदिर का शिलान्यास – पढ़ें 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने अयोध्या में आज राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया और मंदिर की आधारशिला रखी. सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल दशकों पुराने मुद्दे का समाधान करते हुए अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मार्ग रास्ता साफ किया था. आज मंदिर निर्माण की नींव रखे जाने के साथ ही राम मंदिर के लिए चलाया गया भाजपा का आंदोलन फलीभूत हो गया, जिसने भगवा दल को सत्ता के शिखर तक पहुंचा दिया. भूमि पूजन समारोह में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद थे.

Ayodhya Ram Mandir Bhoomi Pujan से जुड़ी अहम जानकारियां

  • पीएम मोदी राम मंदिर पूजन  के भव्य आयोजन के लिए 29 साल बाद अयोध्या पहुंचे और पूरी विधि विधान से मंदिर का शिलान्यास किया. राम मंदिर का शिलान्यास दोपहर 12 बजकर 44 मिनट और 8 सेकेंड पर किया गया है.
  • पीएम मोदी करीब 11.30 बजे अयोध्या पहुंचे और सबसे पहले हनुमानगढ़ी पहुंचकर हनुमान जी की पूजा-अर्चना की. फिर राम जन्मभूमि क्षेत्र पहुंचकर भगवान राम को दंडवत प्रणाम किया. उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी थे.
  • पारंपरिक धोती-कुर्ता पहने मोदी को हनुमानगढ़ी मंदिर के मुख्य पुजारी ने एक पटका भेंट किया. मंदिर में कुछ देर पूजा-अर्चना करने के बाद मोदी राम जन्मभूमि क्षेत्र के लिए रवाना हो गए, राम जन्मभूमि पहुंचकर प्रधानमंत्री ने भगवान राम को दंडवत प्रणाम किया और वहां पारिजात का पौधा लगाया.
  • कार्यक्रम के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का सपना पूरा करने के लिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया, उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिये लोगों ने 500 साल तक संघर्ष किया..
  • कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि राम मंदिर निर्माण के संकल्प को पूरा करने के लिए समान विचारधारा के संगठनों ने लगभग 30 साल तक संघर्ष किया. भागवत ने राम मंदिर आंदोलन में लालकृष्ण आडवाणी, अशोक सिंघल और अन्य के योगदान को याद किया.
  • पीएम मोदी और मंच पर मौजूद सभी लोगों ने राम मंदिर के शिलान्यास वाली पट्टिका का अनावरण किया और इस अवसर पर स्मारक डाक टिकट भी जारी किया.
  • राम मंदिर का भूमि पूजन करने के बाद पीएम मोदी ने वहां मौजूद लोगों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत जय श्रीराम के नारों के साथ शुरू किया. उन्होंने कहा कि जय सिया राम के नारे आज सिर्फ अयोध्या में नहीं बल्कि आज पूरे विश्व में गूंज रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह मेरा सौभाग्य है कि राम भूमि ट्रस्ट ने मुझे आमंत्रित किया और इस अवसर का साक्षी बनने का मौका दिया. पीएम मोदी ने कहा कि सरयू के किनारे आज स्वर्णिम अध्याय लिखा जा रहा है. आज पूरा भारत राममय है. पूरा देश रोमांचित है. हर मन दीपमय है. आज पूरा भारत भावुक है. सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है.
  • पूरा शहर बैनर और पोस्टर से पटा 
    अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण एक लंबी सियासी और अदालती लड़ाई के बाद शुरू हो पा रहा है. ऐसे में पीएम मोदी के आगमन पर पूरा अयोध्या पोस्टरों और बैनरों से पटा हुआ है. जिस रास्ते से पीएम मोदी, राम मंदिर तक पहुंचेगे, उस पूरे रास्ते पर उन्हें बधाई देने वालों के पोस्टर दिखाई दे रहे हैं.
  • भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त
    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को दोपहर 12 बजे राम जन्मभूमि परिसर पहुंचेंगे. इसके बाद वह 10 मिनट में रामलला विराजमान का दर्शन-पूजन करेंगे. इसके बाद वह दोपहर को 12 बजकर 44 मिनट और 15 सेकंड पर मंदिर की आधारशिला की स्थापना करेंगे.
  • ‘बाहरी को अयोध्या में प्रवेश की इजाजत नहीं’
    कोरोना वायरस के प्रसार को लेकर चिन्तित प्रशासन लोगों को अयोध्या आने से बचने को कह रहा है. जनता से अपील की गई है कि वे घरों में ही रहकर यह उत्सव मनायें. भूमि पूजन कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया जाएगा. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार ने बताया कि कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन करने पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है. हम किसी बाहरी व्यक्ति को अयोध्या नगरी में प्रवेश नहीं करने देंगे. निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है और एक साथ चार से अधिक लोग कहीं एकत्र नहीं हो सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *