चीन और भारत ने लद्दाख के एक विवादित इलाके से पूरी तरह से हटाई अपने सेनाएं- सूत्र

सूत्रों के हवाले से ऐसी जानकारी आई है. सूत्रों ने बताया है कि लद्दाख के हॉट स्प्रिंग के पेट्रोल पॉइंट 15 से भारतीय-चीनी सेनाओं ने दो किलोमीटर पीछे तक अपनी सेनाएं हटा ली हैं.

चीन और भारत ने लद्दाख के एक विवादित इलाके से पूरी तरह से अपनी सेनाएं हटा ली हैं. सूत्रों के हवाले से ऐसी जानकारी आई है. सूत्रों ने बताया है कि लद्दाख के हॉट स्प्रिंग के पेट्रोल पॉइंट 15 से भारतीय-चीनी सेनाओं ने दो किलोमीटर पीछे तक अपनी सेनाएं हटा ली हैं. सूत्रों ने बताया कि दोनों सेनाओं के बीच दो किलोमीटर तक जवानों को हटाने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. जानकारी है कि गोगरा के पेट्रोल पॉइंट 17A से जवानों को गुरुवार या शुक्रवार को दो किलोमीटर पीछे हटाया जाएगा.

सूत्रों ने बताया कि पैंगॉन्ग लेक के पास फिंगर 4 इलाके में चीनी सेना की ओर से गतिविधि दिख रही हैं. इस इलाके से चीनी सेना ने अपनी गाड़ियां और टेंट वगैरह हटा लिए हैं लेकिन रिज़ लाइन पर अभी भी उनकी मौजूदगी है. पहले फिंगर 4 के आगे तक भारतीय सेना पेट्रोलिंग करती थी, लेकिन फिंगर 4 में चीनी सैनिकों की मौजूदगी के बाद उनकी पेट्रोलिंग में दखल आ रहा है.

बता दें कि 30 जून को भारत और चीन के लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के अधिकारियों के बीच हुई बैठक में गलवान वैली, हॉट स्प्रिंग, पैंगोंग त्सो और गोगरा में तनाव कम करने के लिए फॉर्मूले पर समझौता हुआ था. जिनमें अभी सोमवार को खबर आई थी गलवान वैली से चीनी सेना पीछे हट रही है. वहीं अब हॉट स्प्रिंग में भी सेना के दो किलोमीटर पीछे हटने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. कहा गया था कि दोनों पक्षों के जवानों ने पीछे हटकर बीच में बफर ज़ोन बनाया है.

इसके पहले सोमवार को ही विदेश मंत्रालय की ओर से जानकारी दी गई थी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल ने चीनी स्टेट काउंसलर वांग यी से बातचीत की थी, जिसमें दोनों पक्षों ने LAC (वास्तविक नियंत्रण रेखा) पर और पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच मौजूदा गतिरोध को बातचीत के जरिए सुलझाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *